क्या कोई कर्मचारी कोरोना टिका लगवाने से मना कर सकता है ?

क्या कोई कर्मचारी कोरोना टिका लगवाने से मना कर सकता है ?

Is Covid Vaccination mandatory for govt employee?

कोरोना ने जहां हर तरफ त्राहि-त्राहि मचा रखी है वहीं दूसरी तरफ सरकार हर मुमकिन कोशिश में है कि उसके हर नागरिक को जल्द से जल्द कोरोना का टीका लगाया जाए। बहुत से प्रांतों में इस टीके को लेकर बहुत सारे भ्रम भी है की क्या यह सही से काम करेगा भी या नहीं और कुछ तो इसको लगवाने से डर भी रही है।

हाल फिलहाल में देखने में आया था कि भारतीय सरकार द्वारा फ्रंटलाइन वर्कर्स को सबसे पहले यह टीका लगवाया जा रहा था। जिसमें भारतीय सरकार द्वारा हर विभाग को यह आदेश दिया गया था कि वह अपने कर्मचारियों को जल्द से जल्द दोनों टीके लगाए। ऐसे में कई विभागों द्वारा आदेश निकाले गए जिसमें कर्मचारियों को टीका लगा गया।

कुछ कर्मचारियों ने टीका लगवाने में अपनी दिक्कत प्रकट की लेकिन विभाग का आदेश था इसलिए उनको लगवाना पड़ा। अभी ऐसा ही एक मामला बहुत तेजी से इंटरनेट पर वायरल हो रहा है। झारखंड बोकारो के रहने वाले एक युवक ने स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय से RTI के तहत ये जवाब माँगा की क्या कोरोना टिका जबरदस्ती है याँ स्वैछिक ?

इस RTI में यह तक पूछा गया की
1) क्या टिका न लगवाने पर किसी कर्मचारी की सरकारी सुविधाएँ बंद करदी जाएँगी ?
2) क्या कोई आईएएस आईपीएस याँ अन्य अधिकारी टिका लगवाने के लिए जोर जबरदस्ती कर सकते हैं?
3) क्या उसे टिका न लगवाने पर नौकरी से निकला जा सकता हैं ?

ऐसे में विभाग की तरफ से उसके प्रतिउत्तर में यह कहा गया की कोरोना का टिका लगवाना पूर्ण रूप से स्वैछिक है और इसका अन्य किसी भी बात से कोई लेने देना नहीं है।

अब प्रश्न यह है की क्या कोई कर्मचारी सच में चाहे तो कोरोना टिका लगवाने से मना कर सकता है याँ नहीं ? जब सरकारें खुद विभागों से हर हफ्ते विभागों को कह रही है की सभी को जल्द से जल्द टिका लगवाओ।

आपकी इसपर क्या है राय हमे जरूर बताएं।

General